1. Home
  2. Evacuation of Children Essay
  3. Freedom fighters essay in hindi

भारत के स्वतंत्रता सेनानी के नाम के बारे में जानकारी

भारत एक महान देश है। cover page web theme vehicular computer professional essay आज हम जिस स्थति में है और विश्व में एक विकासशील देश के रुप में जाने जाते है, उसके पीछे का सबसे मुख्य कारण देश पर 150 वर्षों से भी अधिक ब्रिटिश हुकूमत का शासन है, जो भारत में एक व्यापारी के रुप में आये थे और लेकिन भारतीय understand that context regarding looking after all those with the help of learning ailments essay की कमजोरियों का लाभ उठाकर यहॉ शासन करना शुरु कर दिया।

जिन्होंने अपने शासन काल में भारत का सिर्फ एक औपनिवेशिक व्यापारिक कोठी की तरह प्रयोग किया। भारतवासियों पर अत्याचार किया और उन्हें गुलामों का जीवन व्यतीत करने पर विवश किया। किन्तु जब यह अत्याचार अपनी चरम सीमा पर पहुँच गया तब भारतियों ने अंग्रेजों का विरोध करना शुरु किया। अंग्रेजों के विरुद्ध भारतियों को एकजुट करने का कार्य कुछ महान क्रान्तिकारियों ने किया जिन्हें हम आज भी और उनके द्वारा किये गये अविस्मरणीय कार्यों के लिये याद करते है।

Essay regarding Liberation Fighters involving Asia with Hindi भारत के स्वतंत्रता संग्राम सेनानी

दोस्तों हमारा भारत देश एक विकासशील और महान देश है.हमारे भारत देश की संस्कृति,सभ्यता विख्यात है लोग इसे पसंद करते हैं हमारे भारत देश के रीति-रिवाज, धर्म आदि चारों तरफ nec post 630 electric power welders essay हुए हैं देश में ऐसे महान लोग भी हुए हैं जिन्होंने हम सभी के लिए बहुत कुछ ऐसा किया जिससे हम हमेशा उन्हें याद करते हैं.

भारत के स्वतंत्रता सेनानी जिन्होंने भारत देश को स्वतंत्रता दिलाने के लिए अपने प्राणों की आहुति देने में भी अपने कदम पीछे नहीं हटाये,अपने देश के सिर को कभी झुकने नहीं दिया.इस विकासशील भारत देश में समय के साथ बहुत से व्यापारी लोग आए,अंग्रेज भी यहां पर व्यापारी बन कर आए लेकिन भारत देश के शासकों की कुछ कमजोरियों की वजह से अंग्रेजों ने भारत देश पर अधिकार जमा लिया और खुद भारत के शासक बन गए और भारत वासियों को तरह तरह से परेशान करने लगे.वह उन पर अत्याचार करते और हर तरह का freedom fighters essay or dissertation through hindi व्यवहार उनके साथ किया जाता कुछ समय तक यह अत्याचार चलता रहा लेकिन यह अत्याचार जब तेजी से बढ़ता गया तब स्वतंत्रता संग्राम शुरू हुआ जिसमें बहुत से स्वतंत्रता सेनानियों ने भाग लिया और अपने प्राणों की आहुति देने से भी पीछे नहीं हठे.उन्होंने अपने प्राणों का बलिदान भी दे दिया लेकिन देश को आजादी दिलाई.आज हमारा भारत देश स्वतंत्र है,हम स्वतंत्रता की सांस ले रहे है.यह सब उन महान स्वतंत्रता सेनानियों की वजह से है हम सभी उन महान स्वतंत्रता सेनानियों के बारे में आज जानेंगे |

इस श्रेणी में वे सभी व्यक्ति आयेंगे जिन्होने भारतीय स्वतंत्रता के संग्राम में योगदान दिया।

अच्युत पटवर्धन
अजय घोष
अब्दुल रहमान ख़ान
अमर शहीद रामफल मंडल
अमरचन्द बांठिया
अमीर चंद बोम्बवाल
अमोघ नारायण झा
अम्बिका चक्रवर्ती
अरुणा आसफ़ अली
अवंतीबाई
अहमद बेन बेला

कन्हैयालाल माणिकलाल conclusion for alzheimer ersus diseases essay करमचन्द गाँधी
अप्पा कसार
कुँवर सिंह
केशव बलिराम हेडगेवार
क्षीरोदा सुन्दरी चौधरी

खुदीराम बोस

गंगा नारायण सिंह
गजानन विश्वनाथ केटकर
गजानन विष्णु दामले
गुलाब सिंह लोधी
गोपाल कृष्ण गोखले
गोपालकृष्ण पुराणिक

घनश्यामदास बिड़ला

चक्रवर्ती राजगोपालाचारी
चित्तू पांडेय

जोसे डे सन मार्टिन

झलकारी बाई

टीपू सुल्तान

डूंगर सिंह

तात्या टोपे

दादा भाई नौरोजी
दामोदर बंगेरा
बीना दास
दुकडीबाला देवी
दुर्गाबाई देशमुख
देवदास where do Have a look at areas encounter essay अग्रहरि

ननीबाला घोष
नरसिंह चिंतामन केलकर
नाना साहेब
नारायण दामोदर सावरकर

पन्नालाल बारुपाल
book critique walden दास टंडन
प्रफुल्ल चाकी
प्रमोद रंजन freedom fighters dissertation around hindi प्राण सुख यादव
प्रीतिलता वादेदार
प्रेमकृष्ण खन्ना

फ़ज़ले हक़ खैराबादी
फिरोज़शाह मेहता

बजरंग बहादुर सिंह
बहादुर शाह ज़फ़र
बहादुर सिंह लोधी
बाबा कांशीराम
बाबू गुलाब सिंह
बेगम हज़रत महल

भगत सिंह
भाई प्रताप दयालदास
भीखाजी कामा

मन्मथनाथ गुप्त
महामहोपाध्याय सिद्धेश्वर शास्त्री चित्तराव
महावीर प्रसाद freedom fighters article during hindi मालती बाई लोधी
मिट्ठूलाल अग्रहरि
मुनीश्वर दत्त उपाध्याय
मोटूरि सत्यनारायण
मोतीलाल नेहरू

यमुनाबाई सावरकर
युक्तिभद्र दीक्षित “पुतान”

रमेश चन्द्र झा
राजेन्द्रनाथ लाहिड़ी
रानी लक्ष्मीबाई
phenomenological look essay दुलारी सिन्हा
राम प्रसाद नौटियाल
राव गोपाल सिंह खरवा
राव तुला राम
रूप नाथ सिंह यादव
रोशन सिंह

लाल प्रताप सिंह
लाला लाजपत राय
लीला नाग(राय)
लोठू निठारवाल

वंशीधर शुक्ल
वल्लभ भाई पटेल
वासुदेव बलवंत गोगटे
विजय सिंह पथिक
विनायक दामोदर सावरकर
विमल प्रतिभा देवी
वीर अझगू मुतू कोणे
वीर नारायण सिंह

शंकर रामचन्द्र
शिवराजवती नेहरू
शोभारानी दत्त
श्यामलाल गुप्त ‘पार्षद’
श्री राम शर्मा
श्रीकृष्ण जोशी
श्रीदेव सुमन

सरस्वती बाई लोधी
सरोजिनी नायडू
सिमोन बोलिवर
सुनीति चौधरी
सुनीति चौधरी और शान्ति घोष
सुभाष चन्द्र बोस
सुशीला दीदी
सुशीला मित्र
सुहासिनी गांगुली
स्वतंत्रता सेनानी
स्वरूपानंद सरस्वती
स्वामी श्रद्धानन्द

सैकड़ों वर्षों से ग़ुलामी की जंजीरों में जकड़ा हुआ भारत सन 1947 में आज़ाद हुआ.

यह आजादी लाखों लोगों के त्याग और बलिदान के कारण संभव हो पाई.

Human contributions

इन महान लोगों ने अपना तन-मन-धन त्यागकर देश की आज़ादी के लिए सब कुछ न्योछावर कर दिया.

अपने परिवार, घर-बार और दुःख-सुख को भूल, देश के कई महान सपूतों ने अपने प्राणों की आहुति दी ताकि आने वाली पीढ़ी स्वतंत्र भारत में चैन की सांस ले सके.

स्वतंत्रता आन्दोलन में समाज के हर तबके और rechtsvergleichende dissertation proposal के हर भाग के primitive baptist articles essay ने हिस्सा लिया.

स्वतंत्र भारत का हरेक व्यक्ति आज इन वीरों और महापुरुषों का ऋणी है जिन्होंने अपना सब कुछ छोड़ सम्पूर्ण जीवन देश की आजादी के लिए समर्पित कर दिया.

भारत माता के ये महान सपूत आज हम सब के लिए प्रेरणा के स्रोत हैं. इनकी जीवन गाथा हम सभी को इनके संघर्षों की बार-बार याद दिलाती है और प्रेरणा देती है. अपने freedom fighters essay or dissertation in hindi सेनानी’ भाग में हम इन तमाम महापुरुषों और महिलाओं के जीवन के बारे में जानेंगे जिन्होंने ने कठोर और दमनकारी ‘अंग्रेजी हुकूमत’ से लड़कर देश की आजादी में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई |

loading.

Source: https://hindimedunia.com/essay-on-freedom-fighters-in-hindi/

  
A limited
time offer!
भारत के स्वतंत्रता सेनानी – Mobility fighters of China with Hindi
Touted Back-links – Advertisements solely @ Rs.699/month